भारतीय सेना के मेडिकल कोर में कैप्टन बनी देश की यह बेटी

author image
2:38 pm 8 Jun, 2016

Advertisement

अब देश की बेटियां बुलंदियों को छूती जा रही हैं। आसमान में अपनी जीत की इबारत लिखती जा रही हैं। पद चाहे जो भी हो, उसे पूरी निष्ठा के साथ नए मुकाम दिए जा रही हैं। इसी कड़ी में देश की एक बेटी ने एक ऐसा मुकाम हासिल किया है, जो वाकई काबिलेतारीफ है। यहाँ हम बात कर रहे हैं 24 वर्षीय डॉ. मोनिका राणा की।

हिमाचल के कांगड़ा जिले के खुंडियां के लाहडू (बारीकलां) के सूबेदार मेजर रमेश चंद राणा की बेटी ने सेना में कमीशन हासिल कर, देश भर में प्रदेश का सिर फख्र से ऊंचा किया है।

मोनिका ने भारतीय मेडिकल कोर में कैप्टन पद की शपथ ली है। मोनिका ने अपनी इस सफलता के बारे में बताया कि इस मुकाम तक पहुँचने के लिए उन्होंने दिन रात मेहनत की। मोनिका अब इस पद के साथ ही आर्मी बेस अस्पताल दिल्ली कैंट में अपनी सेवाएं प्रदान करेंगी।

इससे पहले मोनिका 19 साल की आयु में मेडिकल की परीक्षा पास कर आर्मी कॉलेज मेडिकल साइंस दिल्ली कैंट से एमबीबीएस की डिग्री हासिल करने के बाद दो जून को भारतीय मेडिकल कोर से पास आउट हुई। मोनिका ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा आर्मी स्कूल योल कैंट से हासिल की।


Advertisement

मोनिका के पिता सूबेदार मेजर लिपिक रमेश चंद का अपनी बेटी की इस कामयाबी पर कहना है कि बचपन से ही मोनिका का सपना सेना में अफसर बनना था। अपने इसी सपने को पूरा करने के लिए मोनिका ने कोई कसर नहीं छोड़ी और दिन-रात कड़ा परिश्रम किया।

आपके विचार


  • Advertisement