अगर आपको भी हर जगह 11:11 दिखता है, तो उसकी वजह ये है

Updated on 2 Sep, 2017 at 10:46 am

Advertisement

ज़िंदगी में कुछ चीज़े ऐसी होती है जो अनायास ही हमारा ध्यान अपनी ओर खींच लेती है, जैसे कोई खास इंसान, कोई रास्ता, कोई जगह आदि। इसी तरह घड़ी में वैसे तो 24 घंटे होते हैं, लेकिन 11:11 बजते ही आपका ध्यान उस ओर चला जाता है, लेकिन क्या कभी आपने सोचा कि ऐसा क्यों होता है?

11-11-11 example

दरअसल, कई लोगों के साथ अक़सर ये चीज़ देखने को मिलती है। केवल 11:11 ही नहीं लोगों को दूसरे नम्बर भी बार-बार दिखाई देते हैं। कई लोगों के साथ यह कुछ समय के लिए होता है, उसके बाद बंद हो जाता है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिनके साथ लगातार ये होता रहता है।

तो इसलिए बार-बार दिखते हैं एक ही नंबर


Advertisement

ख़ास बात यह है कि जब इस तरह आपको कोई रिपीट नम्बर दिखता है, तो फिर हर जगह आपको इस तरह की चीज़ें दिखने लगती है। इस समय भी कई लोगों को रिपीटेड नम्बर दिख रहे होंगे। कुछ लोग इसे बायोलॉजिकल क्लॉक से जोड़ कर देखते हैं। हमेशा इस तरह की चीज़ें रिपीट होते रहने से शरीर और दिमाग में इस तरह से तालमेल बैठ जाता है, कि अगले दिन उसी समय आपकी नज़र घड़ी पर चली जाती है, जिस समय कल गई थी। धीरे-धीरे आपको हर जगह इस तरीके की चीज़ें नज़र आने लगती है। कुछ लोगों को 11:11 तो कुछ लोगों को 09:09 दिखाई देते हैं। कुछ लोगों को गाड़ियों के नम्बर भी रिपीटेशन में नज़र आने लगते हैं, जैसे कि 1313 आदि।

इसे कुछ लोग मनोविज्ञान से जोड़ कर देखते हैं, तो कुछ लोग इसे मैथमेटिक्स और रीज़निंग से समझाने की कोशिश करते हैं। इसके पीछे कुछ खास सिद्धांत बताए जाते हैं।

संवेदनशीलता

दरअसल, किसी चीज़ के लगातार टकराने पर आप अपने कुछ फेवरेट नम्बर बना लेते हैं। उसके बाद ये नम्बर आपकी ज़िन्दगी से भावनात्मक रूप से जुड़ जाते हैं। इस तरह इंसान हर चीज़ से इन्हें कनेक्ट करने की कोशिश करता है। हमारी संवेदनाएं इन नम्बरों से जुड़ जाती हैं।



उत्तेजना

जब इंसान को इस तरह बार-बार एक ही नम्बर दिखाई देने लगता है, तो वो उसके कई अर्थ निकालने लगता है। इस तरह जब भी व्यक्ति इन नम्बरों से टकराता है, तो यह उसके शरीर में एक विशेष तरह की उत्तेजना पैदा होती है।

समानता

एक ही जैसी चीज़ें देखने पर हमारा मस्तिष्क भी सहजता महसूस करता है, जैसे कि 11:11, 4:44, 12:34 या फिर 1:23. कुछ लोग इस तरह नम्बरों को अपने लिए भाग्यशाली भी मानने लगते हैं।

Mayan Calendar

माया सभ्यता से भी जुड़े हैं तार

प्राचीन मेक्सिको में पाई जाने वाली 26 हज़ार साल पुरानी माया सभ्यता एस्ट्रोलॉजी के मामले में काफ़ी विकसित थी। उनके द्वारा 21वीं सदी में साल 2012 की 21 दिसंबर को दुनिया के अंत का समय 11:11 ही बताया गया था। माया सभ्यता का कैलेंडर ‘कालों के बदलते क्रम’ पर आधारित था।

googleusercontent


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement