S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खास बातें जिनके बारे में आपको शायद ही पता हो

author image
Updated on 14 Oct, 2016 at 12:11 pm

Advertisement

रूस से ‘S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम’ खरीदे जाने का रास्ता साफ हो गया है। गोवा में होने जा रहे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान रूस के साथ इस समझौते पर मुहर लग जाएगी। भारत 33 हजार करोड़ रुपए खर्च कर रूस से पांच S-400 सिस्टम खरीदने जा रहा है।

माना जाता है कि मिसाइल डिफेन्स की दुनिया में S-400 से बेहतरीन सिस्टम अब तक नहीं बना है। यह न केवल दुश्मन के पारंपरिक क्रूज मिसाइलों को नष्ट करने में सक्षम है, बल्कि परमाणु आयुध युक्त बैलेस्टिक मिसाइलों को भी मार गिरा सकता है। हम यहां S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खूबियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम से तीन तरह की मिसाइलों को दागा जा सकता है।

2. यह सिस्टम चीन और पाकिस्तान के खिलाफ मिसाइल शील्ड के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे भारत की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होगी।

hiltservices

hiltservices


Advertisement

3. इससे न केवल मिसाइल्स, बल्कि ड्रोन्स और युद्धक विमानों को भी निशाना बनाया जा सकता है।

4. इसकी क्षमता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यह अमेरिका के अत्याधुनिक फाइटर जेट एफ-35 को मार गिराने की काबीलियत रखता है।

5. सौदा होने की स्थिति चीन के बाद भारत दूसरा देश होगा, जिसके पास यह सिस्टम मौजूद होगा।

6. इसका इस्तेमाल रूसी सेना वर्ष 2007 से कर रही है। फिलहाल इसकी तैनाती सीरिया व क्रीमिया की सीमाओं पर है।

7. यह रक्षा प्रणाली 400 किलोमीटर दूर तक वार कर सकता है। साथ ही 400 किलोमीटर की रेन्ज में मिसाइल हमले को निष्क्रिय कर सकता है।

sputniknews

sputniknews


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement