अम्मा कैंटीन की तर्ज पर अन्नपूर्णा रसोई योजना का शुभारंभ, ग़रीबों का पेट भरना है संकल्प

author image
9:24 pm 16 Dec, 2016

Advertisement

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिला से प्रेरणा लेते हुए राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे ने भी गरीबों के लिए रसोई शुरू की है। इस योजना के अंतर्गत ग़रीबों को पांच रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस योजना का नाम अन्नपूर्णा रसोई रखा है। इस योजना का सूत्र वाक्य है: “सबके लिए भोजन, सबके लिए सम्मान।”

योजना के तहत 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में खाना खिलाने का वादा किया गया है। योजना का उद्देश्य मजदूर, रिक्शा चालक, ऑटो-रिक्शा चालक, छात्र, कामकाजी महिलाओं और वरिष्ठ लोगों को कम कीमत में भोजन उपलब्ध कराना है।

इस योजना की शुरुआत जयपुर के नगर निगम कार्यालय पर आयोजित उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री राजे ने हरी झंडी दिखा कर की। यहां से 5 मोबाइल वैन रवाना किया गया।

योजना के तहत खास वैन के जरिए अलग-अलग जगहों पर खाना उपलब्ध कराया जाएगा। इस काम के लिए फिलहाल 80 वैन्स लगाए गए हैं। योजना को 12 जिलों के डिविजनल हेडक्वार्टर में शुरू किया गया है। इसके तहत पूरे राज्य में सुविधा का लाभ देने की कोशिश की जाएगी। आने वाले समय में जयपुर में ऐसी 25 वैन्स होंगी। वहीं, झालावार में 6, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बिकानेर और भरतपुर में 5-5 वैन्स होंगी। इसके अलावा डुंगरपुर और बंसवाड़ा में 4 वैन्स होंगी। साथ ही प्रतापगढ़ तथा बैरन में क्रमशः 3-3 वैन्स लगाई जाएंगी।


Advertisement

इस योजना में जहां ग़रीबों का पेट भरने का संकल्प लिया गया है। वहीं, भोजन पकाने से लेकर परोसे जाने तक भोजन की गुणवत्ता से लेकर साफ़-सफाई पर भी ख़ासा ज़ोर डाला गया है। खाना बनाने और परोसने का काम करने के लिए ट्रेनिंग ले चुके कर्मचारियों को रखा गया है। वैन के आसपास बैठने की व्यवस्था तो होगी ही, साथ ही काम करने वाला स्टाफ दस्ताने, टोपी और एप्रन समेत पूरी यूनिफॉर्म पहने होगा। एक अधिकारी ने बताया कि सरकार को ब्रेकफास्ट का खर्च 21.70 रुपए और खाने का खर्च 23.70 रुपए आएगा, जो आम लोगों को 5 और 8 रुपए में दिया जाएगा, बाकी कीमत पर सब्सिडी मिलेगी।

लोगों का कहना है कि गर्म एवं अच्छी गुणवत्ता वाला कम दामों में खाने को मिल रहा है। इससे अच्छा और क्या हो सकता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement