एलियंस को खोजने के मिशन वाले वैज्ञानिकों की टीम में है ये भारतीय

Updated on 3 Sep, 2017 at 10:46 am

Advertisement

एलियंस यानी दूसरे ग्रह पर रहने वाले कथित प्राणी हमेशा से मनुष्य को अपनी ओर आकर्षित करते रहे हैं। दूसरे ग्रह के निवासी और वहां के जीवन के बारे में जिज्ञासा रहती है। वैज्ञानिक सालों से इस पर अनुसंधान में लगे हुए हैं। कई देश अपने अंतरिक्ष अभियान पर बड़े पैमाने पर पैसा लगा रहे हैं। ऐसा ही एक साझा प्रोजेक्ट है ‘ब्रेकथ्रू लिसेन’।

इस मिशन की खास बात यह है कि इसके साथ एक भारतीय वैज्ञानिक भी जुड़े हुए हैं। इनका नाम है विशाल गज्जर।

ये एक ग्लोबल एस्ट्रोनॉमिकल प्रोजेक्ट है जो अंतरिक्ष में एलियन के जीवन पर खोज के कारण चर्चे में है। 100 मिलियन डॉलर के इस प्रोजेक्ट में मशीनों को अंतरिक्ष में भेजा जाता है जो परग्रही जीवों के द्वारा मिलने वाले तरंगों को कैप्चर करता है।


Advertisement

प्रोजेक्ट ‘ब्रेकथ्रू लिसेन’ के द्वारा 15 फ़ास्ट रेडियो बर्स्ट (FRB) सिग्नल्स का पता लगाया गया है। ये बार-बार सिग्नल भेज रहा है, जिसे FRB 121102 कहा जाता है। बार-बार आने वाले सिग्नल पर वैज्ञानिक ध्यान दे रहे हैं, क्योंकि ये एलियन द्वारा पैदा किए हो सकते हैं। अभी तत्काल इस पर कुछ कहना मुश्किल है।

इस प्रोजेक्ट को 2015 में महान वैज्ञानिक स्टीफ़न हॉकिंग और इंटरनेट इंवेस्टर यूरी मिलनर ने लॉन्च किया था। हॉकिंग का मानना रहा है कि एलियन को खोजने की कोशिश भी खतरनाक हो सकती है, क्योंकि अगर एलियन अपने लिए दूसरे ग्रह खोज रहे होंगे जहां संसाधन हो तो वे धरती पर हमला कर सकते हैं।

खैर, जो भी हो यह प्रोजेक्ट रोमांच जगाता है। देखना है कि भविष्य में क्या कुछ निकलकर आता है। अभी फिलहाल हम फख्र कर सकते हैं कि इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट में हमारे देश के वैज्ञानिक भी अपना योगदान दे रहे हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement