Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

हमेशा मुस्कुराने वाली ये लड़की भी अब रो पड़ी, क्या हो गया इस देश का हाल?

Published on 19 April, 2018 at 1:43 pm By

देश में लगातार हो रही बलात्कार की घटनाओं ने एक बार फिर लोगों को अंदर तक झकझोर दिया है। सडक से लेकर सोशल मीडिया तक, सभी ओर लोग इन घटनाओं की निंदा करते हुए मुजरिमों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग कर रहे हैं। देश के अंदर उठता आक्रोश का यह गुबार सही भी है, आखिर कब तक हम आंख मूंदे देश की इज्जत लुटने देंगे?


Advertisement

फ़िल्मी सितारों से लेकर आम युवा तक, हर कोई अब बेटियों के लिए इन्साफ चाहता है, लेकिन इन्साफ की चाह में पनपी नाराजगी उस समय उदासी में बदल जाती है जब समाज के कुछ बेहद समझदार लोग जुर्म को भी धर्म का चोगा पहनाते नजर आने लगते हैं। लोगों की विकृत मानसिकता ऐसी है कि रेप पीड़िता के लिए सहानुभूति भी धर्म देखकर जताई जाती है।

इस माहौल में देश की चिंता करने वालों के चेहरे अपने आप मायूसी से लटकते दिखने लगते हैं। देश की बेटियों को डर के साये में जीता देख सालों से खिलखिलाती ऐसी लड़की की आंखों में भी आंसू आ गए, जिसकी मुस्कुराहट देखते हुए हमने अपना बचपन गुजार दिया। हम बात कर रहे हैं मशहूर डेयरी प्रोडक्ट निर्माता कंपनी अमूल के विज्ञापनों में नजर आने वाली अमूल गर्ल की।

 

 


Advertisement

इस साल जिंदगी के 52 वर्ष पूरे कर चुकी अमूल गर्ल की आंखों में पहली बार आंसू आए हैं, जिसे देखकर लोगों के भी दिल पिघल गए। अमूल के द्वारा जारी किए गए ताजा विज्ञापन में अमूल गर्ल आँखों में आंसू लिए, नजरें झुकाकर बैठी नजर आ रही है। साथ में लिखा है, ज़रा आँखों में भर लो पानी।

अमूल गर्ल को इससे पहले साल 2012 में हुए निर्भया कांड के बाद गुस्से में देखा गया था, लेकिन अब तो वह गुस्सा भी उदासी में बदल कर आंसुओं में बहता नजर आ रहा है।

 

 

अमूल गर्ल की यह हालत देख लोग भी मायूस ही नजर आ रहे हैं। ट्विटर पर लोगों की यह उदासी साफतौर पर नजर आई। आइए देखते हैं इस विज्ञापन को लेकर लोगों का क्या कहना है।

 



 

 

वाकई, यदि इस तरह की घटनाओं पर लगाम नहीं लगा, तो आने वाले समय में मासूम बेटियों के सवालों का क्या जवाब देंगे हम?

 

 

 


Advertisement

अब भी देर नहीं हुई है। यदि मिलकर कोशिश की जाए तो हालातों को बेहतर बनाया जा सकता है। लेकिन फिलहाल तो माहौल में एक जायज उदासी, खामोशी और गुस्से के कुछ और नजर नहीं आ रहा है।

कोशिश करते रहिए, शायद वो मुस्कुराहट फिर वापस आ जाए।

Advertisement

नई कहानियां

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Crime

नेट पर पॉप्युलर