अमृतसर रेल हादसा हमे याद दिलाता है हम किस तरह अपनी ही सुरक्षा को ताक पर रखते हैं

Updated on 21 Oct, 2018 at 9:40 am

Advertisement

अमृतसर रेल हादसे से कुछ ही देर पहले शहर में बड़ी ही धूमधाम से विजयदशमी का त्योहार मनाया जा रहा था। अभी रावण दहन हो ही रहा था तभी कुछ ऐसा हुआ जिसने एक खुशनुमा माहौल को शोक में बदल दिया। अमृतसर के जोड़ा फाटक इलाके में रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन किया जा रहा था। रावण दहन होते ही पटाखों की आवाज़ तेज हो गई, जिसके बाद आग की लपटें भी दूर तक दिखाई देने लगी। इस बीच बहुत से लोग जलते रावण को देखने के लिए पास के रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए। उसके बाद जो हुआ वो किसी से छिपा नहीं है।

 

अमृतसर रेल हादसा - Amritsar train accident

 

रावण दहन देख रहे बहुत से लोगों को अमृतसर से पठानकोट जा रही ट्रेन ने अपनी चपेट में ले लिया। इसके बाद जान बचाने के लिए भाग रहे लोग दूसरी पटरी पर आ रही ट्रेन की चपेट में आ गए। इस तरह अमृतसर हादसे में लोगों को दो ट्रेनों ने अपना निशाना बना लिया।

जिस वक्त ये हादसा हुआ उस समय वहां हजारों की तादाद में लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। वहां लोग अपने परिवार वालों के साथ दशहरा मनाने के लिए पहुंचे थे, लेकिन किसी को भी इस बात का अंदाजा नहीं था कई लोगों के लिए ये उनके जीवन का आखिरी दशहरा होगा। रावण वध के साथ-साथ इस हादसे में बहुत से लोग खुद भी जान गवां बैठे।

 

अमृतसर रेल हादसा - Amritsar train accident

 

 

इस घटना की सबसे दुखद बात ये रही हादसे के बाद भी बहुत से लोग मौके पर खड़े रहकर घटना का वीडियो बनाते रहे।

 


Advertisement

लिहाज़ा हम सभी को इस तरह की घटनाओं से सबक लेना चाहिए। यहां हम आपको कुछ ऐसे सेफ्टी टिप्स दे रहे हैं, जिससे ट्रेन से होने वाली दुर्धटना से बचा जा सकता है।

 

Safety Rules To Be Kept In Mind - अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखें

 

1. कभी भी पटरियों पर फंसने से बचें। रेलवे क्रॉस से पहले इस बात को सुनिश्चित कर लें आप बिना रुके ही ट्रैक को पार कर सकते हैं क्या।

2. अगर आप ऐसे रेलवे ट्रेक पर खड़े हैं, जहां एक से ज़्यादा पटरियां है तो ऐसे में दूसरी ओर से आने वाली ट्रेनों पर भी नज़र रखें। सारे ट्रैक्स पर नज़र फेरे। दूर-दूर तक कोई ट्रैन नज़र नहीं आनी चाहिए।

3. ट्रेन के आने की संभावनाएं हमेशा बनी रहती हैं, इसलिए रेलवे ट्रैक पर हमेशा सतर्क रहें।

4. अगर ट्रेन की रफ़्तार 120 किलोमीटर है तो उसमें इमरजेंसी ब्रेक लगाने पर भी उसे रुकने में 2 किलोमीटर से ज़्यादा का समय लग सकता है।

5. ट्रेन की गति को लेकर किसी भी तरह का अंदाजा लगाना गलत है। ट्रैक पर चल रही ट्रेन आपकी सोच से कहीं अधिक तेज चल रही होती है।

6. रेलवे क्रॉस करते समय फ़ोन पर बात या कान में इयरफ़ोन मत लगाएं। इससे ध्यान बंटता है।

 

हमेशा रेलवे ट्रैक पर इन जरूरी बातों का ध्यान रखिए, जान है तो ही ये जहां है। अपनी सुरक्षा को ताक पर रखकर मत चलिए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement