KBC 10: फिल्म के एक सीन के दौरान कांप गए थे अमिताभ बच्चन, डायरेक्टर से बोले ‘मुझे जाने दीजिए हुजूर’

Updated on 8 Sep, 2018 at 2:50 pm

Advertisement

‘ नमस्कार, मैं अमिताभ बच्चन बोल रहा हूं कौन बनेगा करोड़पति से ‘। पिछले एक दशक से भी अधिक समय से यह आम है। अब एक बार फिर छोटे पर्दे का यह बहुचर्चित शो दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए आ गया है। 3 सितंबर से इस शो के 10वें संस्करण की शुरुआत हो गई है। खास बात यह है कि ‘केबीसी’ के साथ अमिताभ बच्चन का नाता काफी पुराना रहा है। हर बार की तरह इस बार भी उनकी दमदार आवाज और व्यक्तित्व का जादू हर किसी के सिर चढ़कर बोल रहा है।

 

 

अब तक के सीजन्स में बहुत से कंटेस्टेंट्स गेम के दौरान अपने जीवन से जुड़े खट्‌टे-मीठे पलों को अमिताभ बच्चन के साथ साझा करते रहे हैं।

हालांकि, इस बार अमिताभ बच्चन ने शो में आई कंटेस्टेंट के साथ अपनी जिंदगी से जुड़ा एक दिलचस्प वाकया शेयर किया। ‘केबीसी सीजन 10’ के तीसरे एपिसोड में अमृतसर की कंटेस्टेंट किरन हॉट सीट पर अमिताभ बच्चन के सामने बैठी थीं। इस दौरान शो में पूछे गए एक सवाल के दौरान अमिताभ ने एक वाकये का जिक्र करते हुए बताया कि एक फिल्म की शूटिंग के दौरान वो इतना कांप गए थे कि उन्होंने निर्देशक से गुजारिश करते हुए कहां कि हमें जाने दें हुजूर।

 


Advertisement

 

दरअसल, अमृतसर की कंटेस्टेंट किरन को एक पुल की तस्वीर दिखाकर ये सवाल किया जाता है कि वह कहां बना है। लाइफलाइन की मदद से किरन 80 हजार रुपये के लिए पूछे गए इस सवाल का जवाब दे देती हैं, जिसके बाद अमिताभ इस पुल की वस्तृत जानकारी देते हुए बताते हैं कि ये लक्ष्मण झूला है। अमिताभ ने कहा कि पुल से उनकी भी एक कहानी जुड़ी हुई है।

बिग बी कहते हैंः

“मेरी एक फिल्म आई थी ‘गंगा की सौगंध’। इस फिल्म में मेरा नाम जीवा था। फिल्म के निर्देशक ने मुझसे कहा कि तुम्हें घोड़े पर बैठकर पुल से होते हुए आना है। जब कोई आदमी इस पुल पर चलता है तो ये हिलता है। मैंने कहा हुजूर मुझे मेरी जान बहुत प्यारी है मुझे छोड़ दीजिए। उन्होंने कहा कि तुम फिल्म के हीरो हो, कर लोगे। बाद में डायरेक्टर ने आर्मी के लोगों को अपने घोड़ों के साथ बुलाया और उन्होंने भी इस सीन को करने से इंकार कर दिया। इसके बाद मैंने ही किसी तरह इस सीन को किया। सीन शूट करने के दौरान मैं ऊपर देखने के बजाय नीचे गंगा माता की तरफ देख रहा था।”

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement