#MeToo: अब फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की क्रू मेंबर ने लगाए आलोक नाथ पर कई संगीन आरोप

Updated on 10 Oct, 2018 at 3:56 pm

Advertisement

एक्टर आलोक नाथ पर शो ‘तारा’ की राइटर और प्रोड्यूसर विनता नंदा के रेप के आरोप के बाद अब ‘हम साथ साथ हैं’ की क्रू मेंबर ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं।

मिड डे की खबर के मुताबिक, क्रू मेंबर ने बताया कि “ये हम साथ साथ हैं के आखिरी शेड्यूल की घटना है। हम एक रात के सीन के लिए शूटिंग कर रहे थे। मैंने आलोक को चेंज करने के लिए हाथ में कॉस्ट्यूम दिए। वो मेरे सामने कपड़े उतारने लगे। जब मैंने कमरे से भागने की कोशिश की तो आलोक ने मेरा हाथ पकड़ लिया और जबरदस्ती करने की कोशिश की।”

 


Advertisement

आगे इस महिला क्रू मेम्बर ने बताया-

 

”मैं पूरी घटना फिल्म के निर्माता-निर्देशक सूरज बड़जात्या को बताना चाहती थी लेकिन मैं बहुत डर गई थी और नहीं बता सकी। मैं सदमे में थी। आलोक के खिलाफ कुछ करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई। उन्होंने कहा कि आलोक सूरज बड़जात्या के बहुत करीब था। मुझे यकीन था कि वो बुरा मान जाएंगे।”

 

 

पहले  विनता नंदा और अब ये क्रू मेम्बर, खबर है कि येन शोषण के आरोपों से घिरने के बाद लोक नाथ की तबियत खराब हो गई है। विनता नंदा ने संस्कारी बाबू अलोक नाथ के खिलाफ़ फेसबुक पर लंबा चौड़ा पोस्ट लिख भूचाल ला दिया।

 

 

 



विनता ने अपने पोस्ट में लिखा आरोपी की वाइफ मेरी बेस्ट फ्रेंड थी। हम दोनो का घर आस-पास था। दोस्ती भी कॉमन थी, मेरे ज़्यादातर दोस्त थिएटर से थे, उस समय टीवी पर ‘तारा’ नाम का शो नंबर वन पर चल रहा था, जिसे में प्रोड्यूस कर रही थी। आगे विनता लिखती है व्यवहार से वो घिनौना और बेशर्म था, लेकिन उस समय टीवी जगत का स्टार होने  के कारण उसे बुरे बर्ताव के लिए माफ कर दिया जाता था। वहीं कुछ लोग उसे बुरी हरकतें करने के लिए भी कहा करते थे।”

 

 

वो मेरी हिरोइन के साथ बदतमीजी करते जा रहे थे। उसकी हरकतें इतनी बढ़ गई थीं कि मेरे शो की हीरोइन ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। इस वाकये के बाद हमें उसे शो से निकालना पड़ा। बाद में मुझे एक बार इस शख्स ने पार्टी में अपने घर पर बुलाया। उसकी वाइफ (जोकि मेरी खास दोस्त थी) शहर से बाहर गई हुईं थीं। हम सभी दोस्तों का मिलना आम था, तो ऐसा कुछ मैंने सोचा भी नहीं, लेकिन जैसे ही शाम होने लगी, मेरे ड्रिंक्स में कुछ मिला दिया गया। जिसकी वजह से मुझे अजीब सा लगने लगा। रात 2 बजे के करीब मैं उनके घर से निकली। किसी ने मुझे ड्रॉप करने के लिए भी नहीं पूछा।

मुझे महसूस होने लगा कि यहां ज़्यादा देर तक रहना सही नहीं है। मैने खाली सड़कों पर अकेले ही पैदल चलना शुरु कर दिया, जबकि मेरा घर दूर था और फिर बीच रास्ते पर उन्होंने मेरा रास्ता रोक लिया।

 

 

 

मामले को तूल पकड़ता देख आलोक नाथ ने इस मामले में चुपी साधी हुई है। आलोक ने एक इंटरव्यू में विनता नंदा द्वारा लगाये गए आरोप पर कुछ कहने से साफ मना कर दिया है। उनका कहना है कि वक्त आने पर सही बातें सामने आ जाएगीं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement