शर्मनाक! 12 साल की बच्ची से दुष्कर्म के 6 दोषियों ने कोर्ट में लगाए ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे

author image
Updated on 3 Feb, 2017 at 4:25 pm

Advertisement

ब्रिटेन की एक अदालत ने साल 1999 से 2001 के बीच साउथ-यॉर्कशायर में दो लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न के मामले की सुनवाई करते हुए 6 आरोपियों को सजा सुनाई है।

दुष्कर्म के बाद एक 12 वर्षीय बच्ची के गर्भवती हो जाने के मामले में अदालत ने सभी 6 दोषियों को 10 से 20 साल तक की सजा दी है।

इस कुख्यात चाइल्ड सेक्स गिरोह के सदस्यों ने अदालत द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद अदालत में ही अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाने शुरू कर दिए।

दोषियों में तीन भाई समेत 6 आरोपी हैं। इन दोषियों की पहचान बशरत दाद(32), नसर दाद (36), तैय्यब दाद(34), मतलूब हुसैन(41), मोहम्मद सदीक(40) और अमजद अली के रूप में हुई है। इनमें बशरत को सबसे अधिक 20 साल कैद की सजा सुनाई गई है।

ऊपर बाईं तरफ से तैय्यब दाद, नसर दाद, बशरत दाद, मतलूब हुसैन, मोहम्मद सदीक और अमजद अली ibtimes

डेलीमेल की इस रिपोर्ट के मुताबिक, जज सारा राइट ने बताया कि 12 साल की बच्ची को ड्रग्स और ऐल्कॉहॉल का नशा कराकर 6 लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया।

गौरतलब है कि साल 2001 में ब्रिटेन की सबसे यंग मदर के तौर पर लड़की की खबर सुर्खियों में आई थी।


Advertisement

सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद दुष्कर्म पीड़िता ने कहाः

“दुनिया में बहुत बुरे और खराब लोग हैं। मुझे लगता है कि मेरा बच्चा पाप का नतीजा है। उस घटना के बाद मेरा बचपन छिन गया। समाज में भी मुझे ताने दिए गए और मैं खुद को बेकार और अकेला महसूस करने लगी।”

ब्रिटेन में बच्चों के यौन शोषण की कई घटनाएं सामने आई हैं। एक स्वतंत्र जांच रिपोर्ट के मुताबिक, 1997 से 2013 के बीच ही करीबन 1400 मामले दर्ज किए गए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement