दिल्ली सरकार के ऑड-ईवन फॉर्मूले की मुश्किल हुई आसान, 13 साल के अक्षत ने निकाला हल।

author image
Updated on 19 Dec, 2015 at 4:21 pm

Advertisement

बढते प्रदुषण की रोकथाम के लिए दिल्ली में गाड़ियों को लेकर अगले 1 जनवरी, 2016 से ऑड-ईवन फार्मूला लागू होने जा रहा है। दिल्ली सरकार के इस फैसले से दिल्ली की जनता को ख़ासी परेशानियां झेलनी पड़ सकती है। एक वर्ग जहां इस फैसले का स्वागत कर रहा है, तो वहीं दूसरा, इस फैसले से नाखुश है।

नए फैसले के तहत लोग 6 दिनों में से सिर्फ 3 दिन ही अपनी गाड़ी सड़क पर उतार पाएंगें। ऐसे में लोगों को समस्या है कि वह कैसे बाकी दिन ऑफिस या अन्य स्थान पर जा सकेंगे।

A boy solves odd even problem

indiatoday


Advertisement

इस समस्या को देखते हुए नोएडा के एमिटी स्कूल के 8वीं कक्षा के छात्र अक्षत मित्तल ने एक वेबसाइट बनाई है। इस वेबसाइट को बनाकर अक्षत ने लोगों की परेशानियों को हल करने की एक कोशिश है। यह वेबसाइट लोगों के लिए कार पूलिंग को सरल बनाएगी।

Capture2

 



इस वेबसाइट पर आप अपने रुट की जानकारी दे, आसानी से कार पूलिंग कर सकते है। आपको बस इतना करना होगा कि अक्षत की बनाई odd-even.com नामक की वेबसाइट पर आपको अपनी कुछ डिटेल डालनी होगी। इसमें आपको अपना नाम, उम्र, मोबाइल नंबर, गाडी का नंबर आदि चीज़ों की जानकारी देनी होगी।

मान लीजिए अगर आपके पास ईवन नंबर की गाडी है, ऐसे में आप इस वेबसाइट पर जाकर अपनी जानकारी डालकर, आपके रूट पर किसी ईवन गाड़ी वाले शख्स ने रजिस्ट्रेशन किया होगा, तो उसके साथ कार पूलिंग कर सकते हैं। अगर कार पूलिंग कोई महिला करती है और वह केवल महिला के साथ की कार पूलिंग करना चाहती है, तो इसके लिए भी वेबसाइट पर विकल्प बनाया हुआ है। इस वेबसाइट को बनाने वाले अक्षत कहते हैंः

“दिल्ली सरकार द्वारा ऑड-ईवन योजना की घोषणा के बाद जिनके पास केवल एक ही कार थी, उन पर असर पड़ता। मैंने लोगों की दिक्कतों के बारे में सोचा। मैंने सोचा कि लोगों के सामने किस-किस तरह की दिक्कतें पेश आ सकती हैं। मैंने जो वेबसाइट बनाई है वह ऐल्गोरिदम पर काम करेगा। यह उम्र, लिंग, व्यवसाय और यात्रा करने के समय का ध्यान रखते हुए विकल्प सुझाएगा।”

a boy solves odd even problem

नोएडा के एमिटी स्कूल की प्रिंसिपल रेनू सिंह का अक्षत के इस प्रयोग पर कहना है कि अक्षत ने बहुत अच्छा प्रयास किया है। इससे हजारों लोगों को फायदा होगा और साथ ही साथ अक्षत ने स्कूल का नाम भी रोशन किया है। तो वहीं उन्होंने यह भी जानकारी दी कि अभी वेबसाइट में दिल्ली और नोएडा को ही शामिल किया गया है। बहुत जल्द फरीदाबाद, गुड़गांव को भी इसमें शामिल किया जाएगा, ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को इसका लाभ मिल सके।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement