आंखों का यह अस्पताल है दृष्टिहीन लोगों के लिए वरदान, साल में 52,000 सर्जरी करता है नि:शुल्क

author image
9:54 pm 22 May, 2017

Advertisement

करीबन दस साल पहले की बात है, जब बिहार के सारण जिले के मस्तीचक गांव के एक मंदिर के परिसर में अखंड ज्योति आई हॉस्पिटल खोला गया था। तब से लेकर अब तक, एक संगठन का रूप ले चुके इस अस्पताल ने 270,000 लोगों की आंखों को रौशनी प्रदान की है।

आपको बता दे कि बिहार में करीब 700,000 लोग ऐसे हैं जो देख पाने में अक्षम है और हर साल 100,000 से ज्यादा ऐसे लोगों की गिनती बढ़ रही है। ऐसे में बिहार में अखंड ज्योति आई हॉस्पिटल इस समस्या को जड़ से खत्म करने की दिशा में सबसे प्रभावी संगठन है।

hospital

 


Advertisement

यह अस्पताल हर साल करीबन 67,000 लोगों की आंखों की सर्जरी करता है, जिनमें से 52,000 सर्जरी के लिए कोई पैसा नहीं लिया जाता। वे नि:शुल्क की जाती है।

साथ ही अस्पताल बिहार के 36 जिलों में से 14 जिलों में आई केयर क्लीनिक संचालित करता है, जिनमें 80 प्रतिशत कर्मचारी महिलाएं हैं।

यह संगठन भारतीय प्राचीन हिंदू शास्त्रों के अनन्त ज्ञान से प्रेरित है और वही पवित्र ज्ञान इस अस्पताल की नींव का आधार है। ये नि:स्वार्थ सेवा के भाव में विश्वास रखते हैं।

baby

 

2017 के अंत तक, इस अस्पताल की एक वर्ष में करीबन 120,000 आंखों की सर्जरी करने की योजना है, जिनमें से 90,000 सर्जरी नि:शुल्क की जाएगी। अखंड ज्योति आई हॉस्पीटल का उद्देश्य 2022 तक बिहार से दृष्टिहीनता को जड़ से खत्म करने का है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement