पीएम मोदी की ‘मन की बात’ से मालामाल हुआ आकाशवाणी

Updated on 20 Jul, 2017 at 5:25 pm

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘मन की बात’ कार्यक्रम, आकाशवाणी के लिए व्यवसायिक लाभ लेकर आया है। इस कार्यक्रम से सरकारी रेडियो स्टेशन को पिछले दो वित्त वर्षो में 10 करोड़ रुपये की आमदनी हुई है।

‘मन की बात’ को लेकर सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री राज्यव‌र्द्धन राठौर ने बुधवार को लोकसभा में बताया कि इससे ऑल इंडिया रेडियो को 2015-16 में 4.78 करोड़ रुपये और 2015-16 में 5.19 करोड़ रुपये की आमदनी हुई।

तीन अक्टूबर, 2014 को शुरू हुए इस मासिक रेडियो कार्यक्रम को देशभर में लाखों लोग सुनते हैं। साथ ही इसका देशभर में व्यापक प्रभाव हुआ है।

सरकार का दावा है कि यह कार्यक्रम भारत की 99 फीसद आबादी तक पहुंचता है। इस वजह से इस कार्यक्रम के विज्ञापन दर अधिक है। साथ ही पूरे देश में पहुंच होने की वजह से सभी कंपनियां इस रेडियो शो से पहले अपना विज्ञापन देना चाहती हैं, जो आकाशवाणी के लिए लाभ लेकर आया है।

इस रेडियो कार्यक्रम के जरिये प्रधानमंत्री सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर जनता से संवाद करते हैं और जनता की राय को भी अपने कार्यक्रम में शामिल करते हैं।



राठौर ने बताया कि हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित किए जाने वाले इस कार्यक्रम का हिंदी के अलावा 18 भाषाओं और 33 बोलियों में उसी दिन प्रसारण किया जाता है।

‘मन की बात’ का अंग्रेजी और संस्कृत संस्करण भी लोगों तक पहुंचाया जाता है। इसकी लोकप्रियता को देखते हुए आकाशवाणी ने इसे विदेशों में भी प्रसारित करने की व्यवस्था की है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement