आत्मघाती हमलावर पर झपट पड़ा यह पिता, बचाई सैकड़ों लोगों की जान

author image
7:58 pm 5 Nov, 2015

Advertisement

आतंकवादी इस दुनिया से शान्ति और मानवता का नामो-निशान मिटाने की कोशिशों में लगे हैं। ऐसे समय में यह वाकया लोगों में साहस का संचार कर सकता है। यह घटना हुई है लेबनान के शहर बेरुत में।

इस शहर में फिदायीन हमलावरों द्वारा दो बम धमाकों में 43 लोगों की मौत हो गई और करीब 200 से अधिक लोग घायल हुए। इन हमलों में मृतकों की संख्या और बढ़ सकती थी, अगर अडल टर्मोस नामक एक व्यक्ति ने एक आत्मघाती हमलावर पर काबू न पा लिया होता।

mirror

mirror


Advertisement

बताया जाता है कि टर्मोस अपनी नन्ही बेटी के साथ बाजार के लिए निकला था। पहले बम धमाके बाद चौकन्ने टर्मोस ने दूसरे फिदायीन हमलावर की पहचान कर ली। जब तक कि दूसरा हमलावर मस्जिद के नजदीक लोगों की भीड़ में घुस पाता, टर्मोस ने उस पर काबू कर लिया। इसी क्रम में फिदायीन ने खुद को उड़ा लिया।

इसमें अडल टर्मोस की भी जान चली गई। बेरुत में हुए इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है।

जानकारी के मुताबिक अडल टर्मोस की बेटी इस हमले में बाल-बाल बच गई। पूरे शहर में टर्मोस की अदम्य जिजिविषा के चर्चे हो रहे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement