अब एसिड अटैक होगा बेअसर! इस महिला डॉक्टर ने बनाया एसिड प्रूफ मेकअप

Updated on 1 Nov, 2018 at 3:26 pm

Advertisement

एशियाई देशों में महिलाओं पर एसिड अटैक की घटनाएं आए दिन अखबारों की सुर्ख़ियां बनी रहती है। जिन महिलाओं पर एसिड अटैक जैसा भयानक हादसा हो जाता है वो महिलाएं समाज के सामने अपनी शारीरिक चोटों को नही छुपा पाती। इस तरह के हादसे की छाप महिला के जीवन में ताह उम्र रहती है। ऐसे में पीड़िता खुद के अक्स को शीशे में देखने से भी घबराती है।

महिलाओं को इस तरह के डर से बाहर निकालने के लिए डॉ अलमस एक अवतार के रुप में सामने आई हैं। 32 साल की डॉ. अलमस अहमद ने 10 साल की कड़ी मेहनत के बाद ‘अकेरियर’ नाम का अनोखा मेकअप तैयार किया है। इससे महिलाएं भविष्य मे होने वाले किसी भी तरह के एसिड हमले से खुद को बचा सकती हैं।

 

thebetterindia


Advertisement

 

ब्रिटेन के यॉर्कशायर की रहने वाली महिला डॉक्टर अलमस बताती हैं इस मेकअप से महिलाएं खुद को किसी भी तरह के एसिड अटैक से बचा सकती हैं। इस केमिकल को फाउंडेशन क्रीम में मिलाकर चेहरे पर आसानी से लगाया जा सकता है।

डॉ अलमस ने बताया जल्द ही इस केमिकल को मॉश्चराइजर और सन्सक्रीम के साथ मिलाकर इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। ये केमिकल महिलाओं की त्वचा की रक्षा एक कवच की तरह करेगा। साथ ही जो महिलाएं एसिड अटैक से पीड़ित हैं उनके लिए भी ये मददगार साबित होगा।

 

डॉ अलमस को अनोखा मेकअप बनाने का आइडिया 2008 में आया था जब उन्हें पता लगा एक एसिड अटैक मॉडल केटी पाइपर को शो से निकाल दिया गया।

 



बात इसकी खासियत की करें तो ये मेकअप लिक्विड प्रूफ है।

 

ये केमिकल लगभग 400 डिग्री के तापमान पर भी टिका रहेगा।

 

ज़्यादा समय तक सूरज की रोशनी और स्विमिंग पुल में रहने के बाद भी इसका असर कम नही होगा।

 

 

डॉ. अलमस ने इस शोध में लगभग 6000 पाउंड यानि 56 लाख रुपये खर्च कर चुकी हैं। वहीं भारत में इसकी टेस्टिंग के लिए सेंपल भी भेज चुकी है। उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही दुनिया की हर महिला इस मेकअप का इस्तेमाल कर सकेंगी। डॉ अलमस की ये खोज वाकई काबीले तारिफ़ है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement