15 साल का अभय बना IIT में दाखिला लेने वाला सबसे कम उम्र का छात्र

Updated on 3 Jul, 2017 at 11:50 am

Advertisement

IIT जैसी कठिन प्रवेश परीक्षा मात्र 15 साल में पास कर जब दाखिले के लिए अभय आईआईटी-कानपुर पहुंचा तो लोग भौचक्के रह गए। जब छात्र 10वीं की परीक्षा देने की तैयारी करते हैं, उसी उम्र में अभय ने IIT पास कर ली। फिरोजाबाद का 15 साल का अभय अग्रवाल आईआईटी में दाखिला लेने वाला सबसे कम उम्र का छात्र हो सकता है।

अभय ने इस साल जेईई-अडवांस्ड क्लियर किया है। जेईई-अडवांस्ड में 2467 ऑल इंडिया रैंक हासिल करने के बाद अभय को आईआईटी-बीएचयू में सीट आवंटित की गई है। आईआईटी-जी कानपुर जोन के वाइस चेयरमैन प्रफेसर शलभ ने बताया कि जब अभय दस्तावेज सत्यापन कराने पहुंचा, तो वह उसे देखकर काफी खुश हुए। अभय की मार्कशीट के मुताबिक वह साढे 15 साल का है।

अभय को मकैनिकल इंजिनियरिंग में दाखिला मिला है, लेकिन अपनी सीट की उसने पुष्टि नहीं की है। वह आईआईटी रुड़की में दाखिला लेना चाहता है इसलिए संस्थान की दी गई चॉइस में ‘फ्लोट’ विकल्प को चुना है।


Advertisement

अभय ने कहाः

“चूंकि मैंने शुरुआती क्लास जंप की थी, इसलिए मैं अन्य छात्रों के मुकाबले 12वीं पहले कंप्लीट कर सका। यह मेरा भाग्य है कि मैंने जेईई अडवांस्ड भी क्लियर कर लिया। मैं आईआईटी रुड़की से पढ़ना चाहता हूं और उम्मीद है कि वहां मुझे सीट जरूर मिलेगी।”

उसके पिता मुकेश अग्रवाल फिरोजाबाद नगर निगम में एक पंप अटेंडेंट के पद पर तैनात हैं। अभय इंजिनियर बनने वाला अपने परिवार का दूसरा सदस्य होगा। उसका बड़ा भाई एक प्राइवेट इंस्टिट्यूट से बी.टेक कर रहा है। उसकी मां 12वीं पास है जबकि पिता मुकेश आर्ट्स ग्रैजुएट हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement