30 साल से जिसे मामूली अंगूठी समझ पहन रखा था, वो निकला असली हीरा

Updated on 1 Aug, 2017 at 3:09 pm

Advertisement

अपनी पसंद से खरीदी गई किसी चीज़ से इंसान को बहुत लगाव होता है, भले ही वो सस्ती ही क्यों न हो, उससे इमोशनल अटैचमेंट हो जाता है। लेकिन जब आपको ये पता चले कि आपकी पंसदीदा पुरानी चीज़ बहुत कीमती भी है, तो ज़ाहिर है आपकी खुशी दोगुनी हो जाएगी। ऐसा हुआ एक विदेशी महिला के साथ, जिसने बरसों पहले बहुत ही कम कीमत में हो एक अंगूठी खरीदी और उस अंगूठी ने 30 साल बाद उसकी ज़िंदगी बदल दी।

फ्लिया मार्क और गैराज सेल वेस्ट लंदन में एक ऐसी जगह है, जहां आपको सब कुछ मिल जाएगा। वर्ष 1980 में एक ऐसे ही संडे सेल में एक महिला ने 13 डॉलर में एक अंगूठी खरीदी और उसे ये अंगूठी इतनी पसंद थी कि खरीदने के बाद से वो हमेशा उसकी उंगली में रही। उसने कभी वह अंगूठी नहीं उतारी।

हालांकि, उस महिला को इस बात का ज़रा भी अंदाज़ा नहीं था कि जो उसने पहन रखी थी वो कोई मामूली पत्थर की अंगूठी नहीं, बल्कि 26 कैरेट की डायमंड रिंग थी जो 19वीं शताब्दी में बनी थी।


Advertisement

इस महिला की अंगूठी पर नज़र पड़ते ही एक ज्वेलर ने उससे कहा कि ये पत्थर नहीं है और उसे इसकी जांच करानी चाहिए, फिर वो महिला इसे लेकर स्दूबी के ज्वेलरी डिपार्टमेंट गई जहां जेसिका वैनधम और उसकी टीम अंगूठी देखकर हैरान रह गई। शुरुआती जांच के बाद अंगूठी को जेमोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ अमेरिका में आगे की जांच के लिए भेज दिया गया, जिसमें पता चला कि ये 19वीं सदी में बना खास डिज़ाइन वाली डायमंड रिंग है। उस वक़्त हीरे को बहुत पॉलिश नहीं किया जाता था इसलिए इसकी चमक थोड़ी कम है।

भले ही इसकी चमक कम हो मगर ये यूनीक अंगूठी बहुत कीमती है ये सच जानने के बाद उस अंगूठी की मालकिन की पूरी दुनिया ही बदल गई। 13 डॉलर की इस अंगूठी को बेचने पर उस महिला को 850,000 डॉलर मिले। उसने कभी नहीं सोचा था कि उसके साथ ऐसा भी होने जा रहा है।

जिस महिला के साथ इस तरह की घटना हुई, उसके नाम का खुलासा नहीं हो सका है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement