Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

इस देश में सिर्फ एक बच्ची को स्कूल ले जाने के लिए चलती है ट्रेन

Published on 14 January, 2016 at 12:18 pm By

जापान के सुदूर इलाके में एक ट्रेन सिर्फ इसलिए चलाई जाती है ताकि एक बच्ची पढ़ने के लिए स्कूल जा सके। आप संभवतः यकीन नहीं कर पा रहे होंगे, लेकिन यह सच है। जी हां, जापान के उत्तरी होकाईडो आइसलैंड के कामी-शीराताकी स्टेशन पर एक मात्र ट्रेन को पिछले कुछ सालों से सिर्फ इसलिए चलाया जा रहा है ताकि उस ट्रेन से एक छात्रा स्कूल पढऩे जा सके।


Advertisement

समाचारों के मुताबिक, कुछ साल पहले इस स्टेशन पर यात्रियों की संख्या कम हो गई। यहां तक कि जापानी रेलवे को भी कोई फायदा नहीं हो रहा था। ऐसे में प्रशासन ने तय किया इस ट्रेन को बंद कर दिया जाए। लेकिन जब उन्हें पता चला कि इसी इलाके की एक छात्रा स्कूल जाने के लिए नियमित तौर पर इस ट्रेन का इस्तेमाल करती है तो उन्होंने इसे जारी रखने का फैसला किया। अब छात्रा के ग्रेजुएट होने तक ट्रेन चलाई जाएगी। इस छात्रा का ग्रेजुएशन इसी वर्ष 26 मार्च को होने वाला है।



इस ट्रेन की खास बात यह है कि इसको छात्रा के स्कूल जाने के लिए हिसाब से ही शेड्यूल कर ऱखा गया है। एक बार ट्रेन छात्रा को लेने आती है और दूसरी बार पहुंचाने के लिए। इस बच्ची के अलावा न तो इस ट्रेन से कोई उतरता है और न ही कोई चढ़ता है।

जापानी रेलवे और वहां की सरकार का यह फैसला शिक्षा के प्रति उनकी जवाबदेही को दर्शाता है। यह वाकया भारत और दूसरे देशों के लिए नजीर है जहां बच्चों को स्कूल जाने के लिए कहा तो जाता है, लेकिन वे वहां तक कैसे पहुंचे इस पर ध्यान नहीं दिया जाता।


Advertisement

अपने ही देश में कई ऐसे हिस्से हैं जहां पहाड़, जंगल और नदी की वजह से बच्चों को स्कूल पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। तमाम दिक्कतों की वजह से वे कई बार तो स्कूल पहुंच भी नहीं पाते।

Advertisement

नई कहानियां

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर


कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें People

नेट पर पॉप्युलर