88 साल की उम्र में एक बुजुर्ग करना चाहता है शादी, पहुंचा कोर्ट

Updated on 4 Aug, 2017 at 1:27 pm

Advertisement

प्यार की डगर बहुत कठिन होता है। यह तगड़ा इम्तिहान लेता है। समाज में प्यार और शादी को लेकर कड़े कायदे हैं। वो भी अगर कोई 88 की उम्र में अाकर शादी करना चाहे तो सोचिए कि क्या हो।

मामला कोलकाता के एक 88 साल के वृद्ध का है, जो उम्र के इस पड़ाव में भी शादी करना चाहता है। उसके अपने ही बच्चे शादी को लेकर बगावत करने पर उतर गए हैं। मामला कोर्ट तक जा पहुंचा है।

खबर के अनुसार, 88 साल के बुजुर्ग की बीबी का निधन दो साल पहले हुआ था। उसके तीन बेटे हैं और तीन बेटियां हैं। लेकिन इसके बावजूद वो अपनी पत्नी की मौत के बाद अकेला महसूस करते थे और इसके कारण ही उन्होंने दूसरी शादी करने की अपील की थी।


Advertisement

जब अकेलेपन की दलिल इस बुजुर्ग के वकील ने कोर्ट को दी, जज ने वकील से बुजुर्ग की उम्र के बारे में पूछा। 88 साल की उम्र में शादी की इच्छा को कोर्ट ने हैरान कर देनेवाली बात बताई।

जज ने कहा कि इस उम्र में शादी करने की अपील करने पर उनके बच्चों ने उन्हें पागलखाने नहीं भेजा यही हैरान करने वाली बात है। इस केस में कोर्ट कुछ नहीं कर सकता। वकील ने कोर्ट को बताया कि बुजुर्ग ने अपने बेटों और बेटियों के खिलाफ FIR करनी चाही, तो पुलिस ने मना कर दिया और उन्हें शादी न करने की सलाह भी दी।

इस पर जज का कहना था कि ये एक सही सलाह है। बुजुर्ग को अपनी जायदाद का हिस्सा कर आराम से जिंदगी बितानी चाहिए। इसके साथ ही कोर्ट ने इस केस को पूरी तरह से खारिज कर दिया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement