दुनिया के इन 5 अजूबों से अब भी लोग अनजान हैं, आइए जानते हैं!

11:30 am 27 Jul, 2018

Advertisement

दुनिया के अजूबे। मानव सभ्यता का इतिहास बेहद पुराना है और इसको लेकर आज भी जिज्ञासा बनी हुई है। वैज्ञानिक इसको लेकर शोध में लगातार लगे हुए हैं। महल और मंदिर ही नहीं, शहर तक खोज निकाले हैं पुरातत्वविदों ने, लेकिन आज भी लोग इनके प्रति उदासीन हैं। वर्षों की मेहनत से गुत्थियों को सुलझाते हुए वैज्ञानिक जो खोज करते हैं, वे मानव समाज के लिए उपयोगी हैं। इनमें से कई ऐसी पुरातात्विक खोजें भी हैं, जिनकी गुत्थियां अब भी अनसुलझी हैं।

 

दुनिया के अजूबे आज भी किसी पहेली से कम नहीं हैं।

 

1. रेगिस्तान में रहस्यमयी आकृति

rooziato.com


Advertisement

 

सऊदी के रेगिस्तान में बनी यह आकृति रहस्यमयी है। इसे आसमान से स्पष्ट देखा जा सकता है। प्रचलित कथाओं के अनुसार यह आकृति किसी बुजुर्ग व्यक्ति द्वारा बनाया गया है। पुरातत्व विभाग की मानें तो इसका निर्माण करीब 2 हजार साल पहले किया गया था। हालांकि,अभी तक इसके बारे में कुछ स्पष्ट जानकारी नहीं है।

 

2. मेक्सिको का मंदिर

 

 

मेक्सिको शहर के इस मंदिर को देखने दुनिया भर से लोग आते हैं, लेकिन आजतक किसी को इसका असली नाम पता नहीं चल पाया है। पुरातत्व विभाग के अनुसार 500 साल पुराने इस मंदिर के बारे में कहीं कोई जानकारी नहीं है। इसकी कहीं कोई न लिखित जानकारी मिलती है और न ही दंत कथाओं में इसका जिक्र है। इसका डिजाइन अमेरिका के शहर न्यूयॉर्क से मिलता-जुलता है।

 

3. नान मैडोल

 

 



टेम्वेन द्वीप के पास बेहद खौफनाक जगह का पता लगाया गया है जो किसी डरावनी फिल्म का सेट जान पड़ता है। शानदार आर्किटेक्ट द्वारा डिज़ाइन किया ये शहर किस काल में बनाया गया एक पहेली ही है। इस जगह के बारे में भी कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।

 

4. गैलिली सागर में बना पहाड़

 

 

रामसेतु के बारे में तो वैज्ञानिक भी बता रहे हैं और इसकी कथाएं उपलब्ध हैं। हालांकि, गैलिली के पास समुद्र में इज़राइल के पुरातत्व विभाग को 2003 में ऐसे पहाड़ पर नजर पड़ी जो छोटे-छोटे पत्थरों को जोड़ कर बनाया गया था। यह किसी अजूबे से कम नहीं था और इसके बारे में लाख पता लगाने के बावजूद अभी तक कोई ठोस जानकारी नहीं मिल सकी है कि इसे कैसे और किसने बनवाया है।

 

5. गोसेक सर्किल

 

 

जर्मनी के पुरातत्व विभाग को सालों की मेहनत के बाद गोसेक सर्किल मिला जिसे साल 1991 में पहली बार देखा गया था। देखने में तो यह आम आकृति की तरह ही है लेकिन इसके बारे में अभी तक जयादा जानकारी नहीं मिल सकी है। विभाग का कहना है कि यह डिज़ाइन सात हज़ार साल पुराना है।

 

दुनिया के अजूबे ऐसे हैं जिनके बारे में आज भी जानकारी नहीं जुटाई जा सकी है!


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement