Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

इन 4 फिल्मों को गलती से भी परिवार के साथ बैठकर न देखें, गजब हो सकता है

Updated on 25 July, 2018 at 12:34 pm By

साल में सैंकड़ों बोल्ड फ़िल्में बनती हैं और प्रदर्शित भी होती हैं। चूंकि फिल्म एक उद्योग है और इसीलिए बॉलीवुड फिल्मकार अपनी फिल्मों में ऐसा मसाला डालने की सोचते हैं जिससे ये जबर्दस्त व्यापार करें।

बॉलीवुड में बोल्ड फ़िल्में


Advertisement

 

यह अलग बात है कि फिल्म कारोबार से अधिक एक कला है और इसे ही केंद्र में रखा जाना चाहिए। बाजार की मांग को देखते हुए कला की बलि नहीं दी जानी चाहिए। हालांकि, सब कुछ किसी एक व्यक्ति के हाथ में नहीं होता लिहाजा कुछ ऐसी फ़िल्में बन जाती हैं जो सेंसर बोर्ड को भी सरदर्द दे देती हैं।

 

बॉलीवुड में बोल्ड फ़िल्में बनती रही हैं, लेकिन हम यहां कुछ ऐसी फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आप परिवार के साथ देखने की जहमत नहीं करेंगे। ये फिल्में वैसे तो भारत में प्रतिबंधित हैं, लेकिन यूट्यूब पर उपलब्ध हैं। आप चाहें तो देख सकते हैं।

ये रही वो 4 फ़िल्में, जिन्हें आपको अकेले ही देखना होगा। ये परिवार के साथ बैठकर देखने लायक नहीं हैं।

 

अनफ्रीडम


Advertisement

 

यह फिल्म दो लड़कियों के संबंध पर आधारित है, जिस पर सेंसर बोर्ड ने रोक लगा रखी है। राज अमित कुमार के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म 2015 में रिलीज होनी थी, लेकिन इसे रोक दिया गया। इस फिल्म को आप परिवार के साथ तो क्या, किसी अन्य व्यक्ति के साथ भी बैठकर नहीं देख सकते हैं। भीषण बोल्ड किस्म की फिल्म है यह।

बैंडिट क्वीन



 

 

यह फिल्म खासी चर्चित हुई थी और आज भी मिसालें दी जाती हैं। यह एक ऐसी औरत की कहानी है जो लगातार बलात्कार की शिकार होकर अंततः डाकू बन जाती है। हादसों से आहत महिला फूलन देवी के रूप में चंबल घाटी में कुख्यात हो जाती है। यह अकेले देखने योग्य एक महत्वपूर्ण फिल्म है।

कामसूत्र 3डी

 

 

साल 2013 में रिलीज को तैयार यह फिल्म यूट्यूब तक ही सिमट गई। रुपेश पॉल निर्देशित इस फिल्म में कामुक दृश्य की भरमार है। लिहाजा सेंसर बोर्ड ने इसे रिलीज करने की अनुमति नहीं दी।

उर्फ प्रोफेसर

 

 

इस फिल्म को पंकज आडवानी ने बनाया था और फिल्म में फेमस एक्टर शरमन जोशी के अतिरिक्त मनोज पहवा और अंतरा माली ने भी अभिनय किया था। साल 2001 में इसे सेंसर बोर्ड ने परदे पर लाने की अनुमति नहीं दी।


Advertisement

इन फिल्मों को परदे पर तो नहीं, यूट्यूब पर आप चुपके से देख सकते हैं। ख्याल रहे कोई देख न ले!

Advertisement

नई कहानियां

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Entertainment

नेट पर पॉप्युलर