उत्तर प्रदेश के 2000 से अधिक मदरसे, मस्जिद पर सुरक्षा एजेन्सियों की नजर

author image
Updated on 22 Apr, 2017 at 6:14 pm

Advertisement

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 2000 से अधिक मदरसे तथा मस्जिदों पर सुरक्षा एजेन्सियों की नजर है।

inkhabar
सांकेतिक तस्वीर।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन मदरसों तथा मस्जिदों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है तथा यहां आने-जाने वालों पर निगाह रखी जा रही है। दो दिन पहले ही छह राज्यों की पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर इस्लामिक स्टेट के कई संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से अधिकतर संदिग्ध बिजनौर और मुजफ्फरनगर इलाके से गिरफ्तार किए गए थे। गिरफ्तार व्यक्तियों में स्थानीय मस्जिद का इमाम मोहम्मद फैजान भी शामिल है। इन गिरफ्तारियों के बाद सुरक्षा एजेन्सियां सतर्क हो गई हैं।

गिरफ्तार संदिग्ध मदरसों में तालीम हासिल कर रहे थे। ये सभी कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से संबद्ध बताए जा रहे हैं।

india
सांकेतिक तस्वीर।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर तथा आसपास के इलाकों में करीब 1500 मस्जिद तथा 500 मदरसे हैं। इन मदरसों में 15 डिग्री लेवल के तथा 55 हाईस्कूल लेवल के हैं। यहां आने-जाने वालों पर उत्तर प्रदेश एटीएस की नजर है।

स्थानीय नागरिकों से इस संबंध में सहायता मांगी गई है।

इससे पहले सुरक्षा एजेन्सियों को सूचना मिली थी कि 20 के करीब आतंकी साधुओं के भेष में बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं।

इससे पहले इस्लामिक स्टेट उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी दे चुका है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भारत के मुस्लिम युवा इस्लामिक स्टेट से प्रभावित हो रहे हैं। साथ ही यह माना जाता रहा है कि मध्य-पूर्व व पड़ोसी बांग्लादेश में में बढ़ रही दबिश की वजह से अब अब इस्लामिक स्टेट भारत को अपनी शरणस्थली बना रहा है

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement