तस्वीरेंः 1977 में हाइजैक हुए विमान की 40 साल बाद वापसी

Updated on 25 Sep, 2017 at 6:03 pm

Advertisement

वामपंथियों आतंकियों द्वारा वर्ष 1977 में हाइजैक हुए एक विमान को करीब 40 साल बाद जर्मनी वापस लाया गया है। जर्मनी का यह विमान वर्ष 1977 में अपने सफर पर निकला था और 40 साल बाद स्वदेश वापस पहुंचा है।

विमान लैंडशट को दो बड़े रूसी विमानों की मदद से जर्मनी वापस लाया जा सका है।

ऐसा हुआ था हाइजैक

लुफ्थांसा एयर बोइंग 737-200 ने 13 अक्टूबर, 1977 की सुबह को स्पेन के पाल्मा डि मैलोर्का से जर्मनी के फ्रैंकफर्ट के लिए उड़ान भरी थी। विमान में पांच क्रू सदस्यों के अलावा 86 यात्री सवार थे। अभी विमान के उड़े हुए आधे घंटे ही हुए थे कि इसे चार हथियारबंद आतंकियों ने हाइजैक कर लिया। ये जर्मनी के रेड आर्मी फैक्शन नामक वामपंथी संगठन के आतंकी थे। अपहर्ताओं में दो फिलस्तीनी और दो लेबनानी थे।


Advertisement



इस जहाज का अपहरण कर इसे सोमालिया की राजधानी मोगादिशु ले जाया गया। हालांकि, र्मनी की खास कमांडो यूनिट जीएसजी-9 के 30 कमांडो ने मोर्चा लिया और तीन आतंकवादियों को मारकर विमान को आजाद करवा लिया। इस ऑपरेशन का नाम दिया गया था ऑपरेशन फियुअरजॉबर।

यह विमान अब तक ब्राजील के फोर्टालेजा एयरपोर्ट पर रखा हुआ था।

क्षतिग्रस्त विमान को 40 साल बाद दो बड़े रूसी विमानों की मदद से जर्मनी वापस लाया गया। इस विमान को डोर्नियर संग्रहालय में रखा जाएगा।

फोटो साभारः डेली मेल


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement