14 साल के इस लड़के ने बना दिया ड्रोन, प्रोडक्शन के लिए सरकार से करार

author image
1:32 pm 13 Jan, 2017

Advertisement

14 साल का किशोर हर्षवर्धन इन दिनों चर्चा में है। दरअसल, 10वीं कक्षा के इस छात्र ने एक ड्रोन डिजाइन किया है, और एक कदम आगे बढ़ते हुए उसने इसके प्रोडक्शन के लिए सरकार के साथ 5 करोड रुपए का समझौता किया है। यह मामला है वाइब्रेन्ट गुजरात समिट का।

हर्षवर्धन का यह ड्रोन युद्ध के मैदान में लैन्ड माइन्स का पता लगा सकेगा। जिस उम्र में बच्चे बोर्ड की परीक्षा को लेकर चिन्तित होते हैं, उस उम्र में हर्षवर्धन ने ड्रोन का तीन नमूना तैयार कर लिया है, और उनकी चारों तरफ चर्चा हो रही है। यह ड्रोन जमीन से दो फीट ऊपर उड़ते हुए आठ वर्ग मीटर क्षेत्र में तरंगें भेजेगा। ये तरंगें लैंड माइंस का पता लगाएंगी और बेस स्टेशन को उनका स्थान बताएंगी। ड्रोन लैंडमाइन को तबाह करने के लिए 50 ग्राम वजन का बम भी अपने साथ ढो सकता है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि हर्षवर्धन ने अपने ड्रोन के नमूनों पर वर्ष 2016 में काम शुरू किया था और फिर इसके लिए बिजनस प्लान भी तैयार किया।

इसके बारे में हर्षवर्धन कहते हैंः


Advertisement

“एक बार टीवी देखते हुए मुझे पता चला कि युद्ध क्षेत्र में लैन्डमाइन निष्क्रिय करते वक्त बड़ी संख्या में सैनिक जख्मी हो जाते हैं। यही वजह है कि मैनें इस तरह का ड्रोन बनाने की ठानी।”

बताया गया है कि ड्रोन के नमूनों पर अब तक 5 लाख रुपए खर्च हुए हैं। पहले दो ड्रोन के लिए उसके अभिभावकों ने 2 लाख रुपए खर्च किए और फिर तीसरे नमूने के लिए सरकार ने 3 लाख रुपए का अनुदान दिया।

हर्षवर्धन का यह ड्रोन मकैनिकल शटर वाले 21 मेगापिक्सल के कैमरे के साथ इंफ्रारेड, आरजीबी सेंसर और थर्मल मीटर से लैश है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement