NSFW: कॉन्डम से जुड़ी इन 13 बातों को जानकर आप हैरत में पड़ सकते हैं

Updated on 11 Apr, 2018 at 10:45 am

आधुनिक गर्भनिरोधक साधनों में सबसे पसंदीदा और आसान तरीका है कॉन्डम का इस्तेमाल। कॉन्डम को परिवार नियोजन के सबसे सस्ते और कारगर तरीके के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। दुनियाभर में कॉन्डम का इस्तेमाल काफी बढ़ चुका है। वर्तमान में इसे शारीरिक संबंध बनाते समय किसी भी प्रकार के यौन संक्रमण से बचने के लिए सबसे उपयुक्त और प्रभावी तरीका माना जाता है। इसके सही इस्तेमाल से न सिर्फ कई प्रकार के यौन संक्रमणों से, बल्कि एचआईवी जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचा जा सकता है।

यकीनन कॉन्डम के इस्तेमाल को लेकर अधिकांश लोगों को जानकारी होगी, लेकिन हमें इस बात का विश्वास है कि कॉन्डम से जुड़ी जो बातें हम आपको बताने जा रहे हैं वो  कुछ ही लोगों को पता होंगी। वैसे तो अधिकांश लोग आज भी दुकान पर कॉन्डम मांगने में संकोच करते है, लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में कॉन्डम का इस्तेमाल दशकों पहले शुरु हो गया था। कॉन्डम से जुड़ी ऐसी ही 13 बातों पर डालते है एक नज़र।

 

क्या आप जानते हैं कि एक कॉन्डम में साढ़े तीन लीटर तक पानी भरा जा सकता है?

 


Advertisement

 

कहा जाता हे कि कॉन्डम गर्भ घारण करने की संभावना को 98 फीसदी तक कम कर देता है। यह सटीक नहीं है। कई बार लोग सही तरह से कॉन्डम का इस्तेमाल नहीं करते, जिससे इसका प्रभाव कम हो जाता है।

 

 

अक्सर देखा जाता है कि कॉन्डम खरीदने के लिए रिटेल शॉप पर पुरुष ही जाते हैं, लेकिन शायद आप जानकर चकित रह जाएंगे कि दुनियाभर में 40 फीसदी कॉन्डम की खरीदारी  महिलाएं करती हैं।

 

 

एक रिसर्च के मुताबिक वैलेंटाइन डे वाले दिन सबसे ज्यादा बिक्री चॉकलेट्स या अन्य तोहफों की नहीं, बल्कि कंडोम  की होती है।

 

 

कॉन्डम को एक बार इस्तेमाल करने के बाद दोबारा उसका इस्तेमाल न करें। इस्तेमाल किए गए कॉन्डम के अंदर पुरुषों के सीमेन होते हैं जिसे स्कमबैग कहा जाता है। इससे यौन संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

 

 

 

एक निश्चित समय के बाद कॉन्डम एक्सपायर हो जाता है, लिहाजा इसे खरीदते समय उसपर दी गई एक्सपायरी डेट को जरूर देखें। कॉन्डम की एक्सपायरी डेट के जाने के बाद सेक्स के दौरान उसके फटने का खतरा बना रहता है।

 

 

 

कॉन्डम का इस्तेमाल हो जाने के बाद उसे दोबारा न पहने, बल्कि उसे तुरंत कूड़ेदान मे फेंक देना चाहिए ।

 



 

पुरुषों  के मन में इस बात को लेकर गलत धारणा बनी हुई है कि कॉन्डम को पहनकर वो सेक्स का पूरा आनंद नहीं उठा सकते। इस धारणा का कोई आधार नहीं है।

 

 

कॉन्डम को किसी सामान्य स्थान पर रखना चाहिए, कॉन्डम को रखते समय सुनिश्चित करें कि वो स्थान थोड़ा ठंडा और सूखा हुआ हो।

 

एक हालिया रिसर्च के मुताबिक  महिलाओं को कॉन्डम या कॉन्डम के बिना सेक्स करने में समान रूप से आनंद आता है।

 

 

 

 

यह भी सच है कि अधिकतर मर्द कॉन्डम के बिना ही सेक्स करना पसंद करते हैं। हालांकि साथी के अनुरोध करने पर वो कॉन्डम को इस्तेमाल कर लेते हैं।

 

 

कॉन्डम को बाजार में भेजने से पूर्व टेस्टिंग के दौरान उसमें इलेक्ट्रिक करंट छोड़ा जाता है, जिससे ये सुनिश्चित किया जा सके कि इसमें कोई छेद न हो ।

 

 

बताया जाता है कि दुनिया में सबसे पहले कॉन्डम की खोज स्वीडन में हुई थी। स्वीडन में एक “कॉन्डम एम्बुलेंस” चलाई जाती है, जो लोगों को जगह जगह जाकर कॉन्डम बांटती है।

 

 

 

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement