भारत ही नहीं पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं भगवान शिव के ये 11 मंदिर

author image
Updated on 14 Feb, 2018 at 6:00 pm

Advertisement

भारतवर्ष धर्म, भक्ति, अध्यात्म और साधना का देश है। भारतवर्ष में पूजा-पाठ का काफी महत्व होता है। हिन्दू धर्म में करीब अस्सी करोड़ से अधिक देवी-देवताओं की पूजा होती है। इनमें भगवान के तीन रूपों ब्रह्मा, विष्‍णु और शिव को सर्वोच्च स्थान है। भगवान शिव के बारे में बताएं तो इन पर श्रद्धालुओं की अपार श्रद्धा देखने को मिलती है। देशभर में जहां भी शिव मंदिर स्थित हैं, वहां भक्‍तों की भारी भीड़ देखने को मिल जाती है।

शिवरात्रि का महापर्व शुरू हो गया है। इस खास अवसर पर हम आपको बताने जा रहे हैं भगवान शिव के 11 मंदिर के बारे में जहां श्रद्धालुओं की सारी मन्नतें पूरी होती हैं।

1. रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग | तमिलनाडु

तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले में स्थित रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग हिंदुओं का एक पवित्र तीर्थ है। यह तीर्थ हिन्दुओं के चार धामों में से एक है। यह शिवलिंग 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है।


Advertisement

2. बैद्यनाथधाम | झारखंड

यह ज्‍योतिर्लिंग एक सिद्धपीठ है। कहते हैं भोलेनाथ यहां आने वाले की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इसलिए इस शिवलिंग को ‘कामना लिंग’ भी कहा जाता है।

3. नागेश्वर ज्योतिर्लिंग | गुजरात

नागेश्वर मन्दिर भगवान शिव को समर्पित है। यह भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। हिन्दू धर्म के अनुसार नागेश्वर अर्थात नागों का ईश्वर होता है।

4. महाकालेश्वर मंदिर | उज्जैन

भगवान शिव को समर्पित महाकालेश्वर मंदिर मध्यप्रदेश के उज्जैन नगर में स्थित है। यह मंदिर भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है।

5. घृष्णेश्वर महादेव मंदिर | औरंगाबाद शहर

घृष्णेश्वर मंदिर भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिगों में से एक है। इस मंदिर का निर्माण देवी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था। इस ज्योतिर्लिग के बारे मे कई तरह की कथाएं प्रचलित हैं।

6. काशी विश्वनाथ मंदिर | वाराणसी

इस धार्मिक नगरी में हजारों साल पूर्व स्थापित काशी विश्वनाथ मंदिर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। हिन्दू धर्म में सर्वाधिक महत्व के इस मंदिर के बारे में कई मान्यताएं हैं। मान्‍यता है कि इस मंदिर के दर्शन करने और पवित्र गंगा में स्‍नान करने से मोक्ष की प्राप्‍ति हो जाती है।

7. अमरनाथ गुफ़ा | जम्मू-कश्मीर

अमरनाथ गुफा भगवान शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। यह समुद्रतल से 13,600 फुट की ऊँचाई पर स्थित है। यहाँ की प्रमुख विशेषता पवित्र गुफा में बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग का निर्मित होना है।

8. लिंगराज मंदिर | ओडिशा

लिंगराज मंदिर ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में स्थित है और भारत के सबसे प्राचीनतम मंदिरों में से एक है। इस मंदिर का वर्णन छठी शताब्दी के लेखों में भी आता है।

9. मुरुदेश्वर मंदिर | कर्नाटक

मुरुदेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। यहाँ भगवान शिव का आत्म लिंग स्थापित है, जिस की कथा रामायण काल से ही है। मुरुदेश्वर मंदिर के बाहर बनी भगवान शिव की मूर्ति दुनिया की दूसरी सबसे ऊँची शिव मूर्ति है।

10. सोमनाथ ज्योर्तिलिंग | गुजरात

सोमनाथ मंदिर भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में सर्वप्रथम ज्योतिर्लिंग के रूप में माना जाता है। यह मंदिर गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल बंदरगाह में स्थित है।

11. केदारनाथ मंदिर | उत्तराखंड

उत्तराखंड में स्थित हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मन्दिर 12 ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित है। केदारनाथ का मंदिर 3593 फीट की ऊंचाई पर बना हुआ एक भव्य एवं विशाल मंदिर है। माना जाता है कि एक हजार वर्षों से केदारनाथ पर तीर्थयात्रा जारी है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement