बिहारः नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 10 जवान शहीद, तीन माओवादी भी ढेर

author image
Updated on 19 Jul, 2016 at 9:08 am

Advertisement

बिहार में माओवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 10 जवान शहीद हो गए हैं। गया और औरंगाबाद जिलों की सीमा पर हुए इस मुठभेड़ में तीन माओवादियों के भी मारे जाने की खबर है। उनके शवों की बरामदगी हो गई है।

मृत माओवादियों के पास से ऑटोमेटिक हथियार भी बरामद किए गए हैं। हथियारों में चार एके-47 ,चार इंसास राइफल और बड़ी संख्या में कारतूस बरामद किए गए हैं।


Advertisement

बताया गया है कि डुमरीनाला के पास सोमवार को माओवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के दौरान सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के दस जवान बड़े आईईडी धमाके की चपेट में आ गए। इस धमाके में 10 जवान अपनी जान गंवा बैठे, वहीं चार जवान घायल भी हुए हैं।

घायल जवानों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। जबकि माओवादियों के खिलाफ ऑपरेशन अब भी जारी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह अभियान पिछले 16 जुलाई से चलाया जा रहा है। माओवादियों से जवानों का सामना सोमवार को करीब साढ़े 11 बजे दिन में हुआ ।

सोमवार की रात को अभियान को थोड़ी देर के लिए स्थगित कर दिया गया। इलाके में आईइडी की मौजूदगी है और रात होने की वजह से अप्रिय घटना की आशंका थी।

205 वीं कोबरा बटालियन के जवानों को नक्सल विरोधी अभियान के लिए राज्य में तैनात किया गया है। विशेष अभियान पर तैनात सीआरपीएफ की कोबरा इकाई के लिए यह सबसे बड़ी क्षतियों में से एक है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement